श्रद्धालु कांवड़ लाने से पहले संबंधित थाना में जमा करवाएं दस्तावेज : वरुण सिंगला।

Read Time:5 Minute, 34 Second
समाचार निर्देश शब्बीर तावडू – पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बतलाया कि पुलिस अधीक्षक नूंह श्री वरुण सिंगला आईपीएस ने कावड़ मेला यात्रा के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व आवश्यक जानकारी एकत्रित करने हेतू सभी थाना प्रभारी व चौकी इंचार्जों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए हुए है। इसके साथ ही कांवड़ लेने के लिए जाने वाले सभी श्रद्वालुओं से सहयोग कि अपील की गई है, कि कांवड़ लेने जाने से पूर्व सभी श्रद्धालु संबधित थाना में अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर इत्यादि पूर्ण जानकारी देकर जाए ताकि कांवड़ यात्रा के दौरान किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न होती है, तो संबंधित प्रदेश की पुलिस से समन्वय स्थापित कर समय रहते समाधान किया जा सके। इसके अतिरिक्त रजिस्ट्रेशन के लिए उत्तराखंड पुलिस द्वारा भी ऑनलाईन पोर्टल https://policecitizenportal.uk.gov.in/kavad खोला गया है, इस पर भी रजिस्ट्रेशन करवाए। पुलिस का प्रयास है कि कांवड़ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े ।
 कांवड़ यात्रा 14 जुलाई से 26 जुलाई तक चलेगी । श्रद्धालु हरिद्वार (उत्तराखंड) से कांवड़ लेकर अपने गंतव्य की तरफ प्रस्थान करेंगे। जिला नूंह यूपी / राजस्थान बार्डर से सटा हुआ है । हरियाणा के विभिन्न जिलों के अतिरिक्त राजस्थान आदि के लाखों कावड़ियें नूंह के रास्ते अपने गंतव्य पर पहुंचते है । कावड़ यात्रा के सफल आयोजन व कावड़ियों की सुरक्षा को मध्य नजर रखते हुए जिला पुलिस की और से समय रहते सुरक्षा के सभी पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं।  जिला नूंह में कुल 12 अन्तर्जिला नाकों के अलावा जिला के भीतर कुल 23 नाकों स्थापित किये गये हैं । जिन -2 मार्गों से कावड़ियें गुजरते है उन सभी मार्गों पर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाने के साथ ही मुख्य चौक – चौराहो पर बेरिकेडिंग करवाई जाएगी । इसके अतिरिक्त 13 SHO Mobiles / PCRs एवं 10 राइडर दिन रात्रि 24 घंटे के लिए तैनात की गई है साथ ही फायर बिग्रेड, क्रेन एवं एंबुलेंस की व्यवस्था भी अलग से कराई गई है।
 पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जिले में कांवड़ यात्रा के मद्देनजर पुलिस विभाग अलर्ट है। प्रमुख मार्गों पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई है। कावड़ यात्रा के दौरान भांग व नशा करने और मौज-मस्ती में शोर मचाने वालों पर पुलिस को विशेष ध्यान रखने व यातायात बाधित न होने देने के संबंध में निर्देश दिए हैं । संवेदनशील क्षेत्र में पुलिस का भ्रमण रहेगा। कोई भी दुर्घटना न हो, इसके लिए नदी, नहर, सड़कों पर साइन बोर्ड लगाए जाएंगे। स्पीड लिमिट साइन भी लगाए जाएंगे ।
 कावड़ यात्रा में किसी प्रकार का कोई हथियार, नुकीले भाले इत्यादी लेकर चलने पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी । कावड़िया अपना पहचान पत्र साथ लेकर जाए। ध्वनी प्रदूषण के संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जारी किये निर्देशों की पालना करें। पुलिस अधीक्षक महोदय ने सभी श्रद्धालुओं से सहयोग की अपील करते हुए कहा की शांति कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस का सहयोग करे।
अनुमति लेकर लगाए कांवड़ शिविर:
 
 जिले में कावड़ियों की सेवा व विश्राम करने के लिए यात्रा के दौरान विभिन्न संस्थाओं व श्रद्धालुओं द्वारा विभिन्न स्थानों पर शिविर लगाए जाते है। प्रशासन से अनुमति लेकर शिविर लगाए और निर्धारित किये नियमों की पालना करे। सड़क से 20 फुट अंदर शिविर का पंडाल लगाए। पार्किग व्यवस्था भी सड़क से दूर रखनी होगी, साथ ही बेरिगेटिंग करवाए । पंडाल पर पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे लगवाए। महिलाओं व पुरूषों के लिए अलग-अलग शौचालय की व्यवस्था करे ।
 फोटो कैप्शन: वरुण सिंगला पुलिस अधीक्षक नूंह
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
1448800cookie-checkश्रद्धालु कांवड़ लाने से पहले संबंधित थाना में जमा करवाएं दस्तावेज : वरुण सिंगला।
This post has been liked time(s)

Please rate this

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post Biggest Threat To Kidney Health
Next post निजामपुर गांव में पैमाइश के मुताबिक रास्ता नहीं बनाने का आरोप।