आंखों के नीचे है काले घेरे तो करे ये उपाय

Read Time:3 Minute, 2 Second

Rashmi Singh 11 0ctober

आंखों के नीचे काले घेरे दिखने में खराब लगते हैं। जिसकी वजह से चेहरा मुरझाया हुआ सा दिखता है। जेनेटिक, खाने-पीने में लापरवाही, नींद पूरी न होना, स्ट्रेस लेना, थायरायड अल्कोहल लेने या लैपटॉप, मोबाइल ज्यादातर देर तक चलाना। भरपूर नींद ना लेने की वजह से आंखों के नीचे काले घेरे हो जाते हैं।
आंखों के नीचे काले घेरे होने के काई कारण हैं. हम कुछ ऐसे घरेलू उपाय बता रहे हैं जो आंखों के नीचे के काले घेरों को आसानी से दूर कर सकते हैं.

गुलाब जल की मदद से भी आप आंखों के नीचे के काले घेरे को दूर कर सकते हैं. इससे स्किन में नमी आएगी और स्किन पर निखार आएगा. रात को सोते समय गुलाब जल को हलके हाथो से लगा ले और सुबह धो ले

एक चम्मच एलोवेरा जेल लें और इससे डार्क सर्कल्स पर मसाज करें। इसे रात भर छोड़ दें और सुबह धो लें। एलोवेरा के रोज इस्तेमाल से स्किन हाइड्रेट रहेगी और डार्क सर्कल हल्के होने लगेंगे।

नींबू के रस में विटामिन सी होता है । डार्क सर्कल्स पर नींबू के रस का इस्तेमाल करने से डार्क सर्कल हल्के हो जाते हैं।
आलू का रस भी डार्क सर्कल रिमूवल की तरह काम करता है। इसके रस में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा के कालेपन को कम करते हैं। हर रात इसे लगाकर सोएं और अगली सुबह ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
खीरा विटामिन से भरपूर होता है और डार्क सर्कल्स को दूर करने में सबसे अच्छा होता है। खीरे को ब्लेंड करें और उसमें एलोवेरा जेल मिलाएं और पेस्ट बना लें। पेस्ट को डार्क सर्कल्स में 15 मिनट के लिए छोड़ दें और धो लें।

उम्र की भागती सूइयों के बीच डार्क सर्कल का तनाव न रहे, इसके लिए सबसे पहली जरूरत अपनी सेहत पर ध्यान देना है। हेल्दी फूड हैबिट्स उम्र के लक्षणों को कम करती है। इसलिए जितना ज्यादा हो सके। अपनी डाइट में प्रोटीन, कैल्शियम, मिनरल्स और फाइबर युक्त आहार शामिल करें। सीजनल फल और हरी सब्जियां स्किन प्रॉब्लम दूर रखती हैं। पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से भी आंखों के नीचे काले घेरे की समस्या कम होगी।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
1474880cookie-checkआंखों के नीचे है काले घेरे तो करे ये उपाय
This post has been liked time(s)

Please rate this

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous post Signs of glaucoma risk in Kids 
Next post करवाचौथ को बनाये खाश, ऐसे बनाये मुंग दाल हलवा