माचार निर्देश ब्यूरो,पिहोवा (पृथ्वी सिंह):- सरस्वती तीर्थ पिहोवा के तट पर जिला स्तरीय तीन दिवसीय गीता जयंती महोत्सव का आयोजन किया गया। उपमंडल अधिकारी नागरिक सोनू राम ने दुनिया में शांति व भाईचारे का प्रतीक गीता जयंती महोत्सव का मां सरस्वती के चरणों में दीपशिखा प्रज्वलित कर शुभारंभ किया। इस मौके पर एसडीएम ने जन कल्याणकारी योजनाओं को प्रदर्शित करती लोक सम्पर्क विभाग की प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। मंच का संचालन उमाकांत शास्त्री ने किया। एसडीएम सोनू राम ने कहा कि गीता एक ऐसा ग्रंथ है, जो सम्पूर्ण विश्व और मानवता के लिए बहुत उपयोगी है। जीवन में किसी भी नकारात्मक स्थिति से उभरने में गीता हमारा मार्गदर्शन करती है। हरियाणा सरकार ने गीता जयंती को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने के साथ-साथ खंड स्तर पर भी मनाने का निर्णय लिया है। गीता एक धार्मिक ग्रंथ है, जिसका विश्व की सर्वाधिक भाषा में अनुवाद किया गया है। आज के दौर में नई पीढ़ी संस्कारों से दूर होती दिखाई दे रही है। गीता के ज्ञान से नव पीढ़ी में संस्कार आएंगे और एक सभ्य समाज की स्थापना होगी। उन्होंने कहा कि गीता हमारी धरोहर है, जिसके संरक्षण के साथ-साथ प्रचार-प्रसार को बढ़ावा देना चाहिए। ऐसा करने से आने वाली पीढ़ी में संस्कारों का समावेश होगा, जिससे आपसी भाईचारा, प्रेम और शांति का माहौल बनेगा। महोत्सव में  में गीता मॉडल स्कूल के विद्यार्थियों ने सरस्वती वंदना, बाबा मान सिंह स्कूल के विद्यार्थियों ने गीता के श्लोकोच्चारण किए। आर्बर ग्रोव पब्लिक स्कूल की छात्राओं ने पंजाबी गिद्दा, एसडीएसएन पब्लिक स्कूल की परी ने हरियाणवी नृत्य तथा ग्रुप नृत्य व पंजाबी नृत्य किया। बाबा श्रवण नाथ स्कूल की छात्राओं ने हरियाणवी कोरियोग्राफी व पंजाबी समूह नृत्य, डा. गुरतेज सिंह द्वारा नाटक की प्रस्तुति दी गई। इसके अतिरिक्त हरियाणवी आरकेस्ट्रा ऋषि नागर द्वारा लोकगीत व भजन, लीडर रामबीर नाथ सोढा के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय बीन जोगी गु्रप द्वारा बीन प्रेजेंटेशन, अंतरराष्ट्रीय लोक कलाकार हरिशंकर नागर व साथी अलगोजा राजस्थान द्वारा कच्छी घोड़ी की प्रस्तुति दी गई। इ

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *