समाचार निर्देश / बिहार संपादकमुकेश कुमार सिंह

पटना (बिहार) : बिहार में एक तरह से कहें, तो कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक लगा दी है। बिहार में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।  बिहार में शनिवार को कोरोना के 281 नए मामले सामने आए हैं। गौरतलब है कि एक्टिव मरीजों की संख्या अब 749 हो गयी है। सबसे ज्यादा मरीज पटना में मिले हैं। पटना में 136 कोरोना के नए संक्रमित मिले हैं। गया में 70 नए मरीज मिले हैं। इसके अलावे, बिहार के अन्य जिलों में भी, लगातार कोरोना मरीज मिल रहे हैं। कोरोना मरीज बढ़ने के साथ ही, सरकार ने तीसरी लहर से निपटने की तैयारी भी तेज कर दी है। कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए पटना के पाटलिपुत्रा अशोका होटल में आइसोलेशन सेंटर के रूप में तैयार किया जा रहा है। यहाँ कुल 152 ऑक्सीजन बेड हैं। पाटलिपुत्रा के टीकाकरण केंद्र को होटल कौटिल्य में शिफ्ट किया जा रहा है। पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स जिला कोविड केयर सेंटर के रूप में विकसित कर लिया गया है, जहाँ 112 बेड हैं। मित्तन घाट स्थित खानकाह भुजीबिया में 25 बेड हैं, जिसे हर तरह से तैयार रखने का निर्देश दिया गया है। सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अभी 289 बेड तैयार हैं और कंगन घाट में 200 बेड की व्यवस्था प्रकाश, पर्व के बाद हो जाएगी। यही नहीं, अब जाँच में भी तेजी लायी जाएगी। पटना डीएम डॉक्टर चन्द्रशेखर सिंह ने सिविल सर्जन और डीपीएम को जाँच में तेजी लाने का निर्देश दिया है। अभी प्रतिदिन औसतन 6000 जाँच की जा रही है। कुल 63 केंद्रों पर जाँच जारी है। 25 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 4 शहरी अस्पताल, 23 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 3 रेफरल हॉस्पिटल 4 सब डिविजनल अस्पताल, 1 सदर अस्पताल के अतिरिक्त रेलवे स्टेशन, बस अड्डा, हवाई अड्डा पर भी जाँच की जा रही है। 10 मोबाइल टीम का गठन किया गया है, जो सैंपल कलेक्शन करेगी। इनमें से 5 मोबाइल टीम पूर्व से कार्यरत हैं। कोरोना के मामले बिहार में तेजी से बढ़ रहे हैं। बिहार के अन्य जिलों के आंकड़ों पर यदि गौर करें तो अररिया में 1, औरंगाबाद में 2, बांका में 1, भागलपुर में 3, भोजपुर में 3, गोपालगंज में 2, जमुई में 3, जहानाबाद में 5, खगड़िया और किशनगंज में 1-1, मधेपुरा में 8, मुंगेर में 10, मुजफ्फरपुर में 2, नालंदा में 4, नवादा में 3, पूर्णिया, सारण, शेखपुरा, सीवान में 1-1, रोहतास में 3, सहरसा, समस्तीपुर और सुपौल में 2-2, वैशाली में 6 और दूसरे राज्यों से आए कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 7 हो गयी है। यह रफ्तार बता रही है कि कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए हर कारगर उपाय करने होंगे, नहीं तो कोरोना की दूसरी लहर में बिहार ने जो त्रासदी झेला था, कहीं तबाही का मंजर, उससे बड़ा ना हो। आम लोगों को, सरकार के तमाम गाईडलाईन्स का पालन करना होगा। लोगों की लापरवाही, मौत को आमंत्रण देना साबित होगा।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *