नई दिल्ली। कर्मचारी चयन आयोग अर्थात एसएससी ने 55 हजार मेडिकली फिट अभ्यर्थियों का जो कि अर्धसैनिक बनकर देश सेवा करने का जुनून रखे थे, का सपना मिट्टी में मिला दिया है। अब वह अभ्यर्थी दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं दिल्ली के जंतर मंतर पर, एसएससी ऑफिस के सामने, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में, झारखंड की राजधानी रांची में एवं विभिन्न राज्यों में एसएससी के अभ्यर्थी अपने न्याय हेतु शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। ये प्रदर्शन लगातार 11 महीनों से लगातार करते आ रहे हैं। उनके साथ हुए अन्याय के लिए वह लगातार प्रधानमंत्री को गृहमंत्री को एवं राष्ट्रपति जी को पत्र भेज रहे है। लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से उन्हें कोई आश्वासन नहीं दिया गया है। सीआरपीएफ के पूर्व विशेष सदस्य माननीय रणवीर सिंह जी ने राष्ट्रपति भवन पहुंचकर माननीय राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी को यह ज्ञापन सौंपा जिसमें अर्ध सैनिकों की पेंशन व एसएससी जीडी 2018 भर्ती के सभी चरणों में पास अभ्यार्थियों को शीघ्र नियुक्ति की मांग का प्रस्ताव था। उन्होंने बताया की माननीय राष्ट्रपति जी ने इस प्रस्ताव को सरकार के सामने रखने का वादा किया और कहा देश के अर्ध सैनिकों के साथ न्याय अवश्य होगा।आपको बता दें कि भर्ती प्रक्रिया 2018 में एसएससी जीडी द्वारा 60210 पदों पर हुई जिसमें 109000 अभ्यर्थी सफल हुए लेकिन एसएससी ने जोइनिंग सिर्फ 54000 अभ्यर्थियों को दी। शेष बचे 54000 अभ्यर्थियों का सपना चूर चूर हो गया जिसमें से अब 80% अभ्यर्थी ओवर एज हो चुके हैं। यह हर रोज सरकार से यही गुहार लगाते हैं कि इन्हें सरकार शीघ्र नियुक्ति दे जिससे इनके देश सेवा करने का सपना साकार हो सके।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *